NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF Download

NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF Download

Class 4 Hindi Chapter 1 | NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF Download | Class 4 Hindi Chapter 1 PDF Download | Class 4 Hindi Chapter 1 Question Answer | Hindi Class 4 Chapter 1 | Poem | Summary | Sukh Dham | MCQ.

Class 4 Hindi Chapter 1: मन के भोले-भाले बादला Chapter 1 Solution डाउनलोड या पढ़ने के लिए यहां उपलब्ध है। जो छात्र कक्षा 4 में हैं या किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं जो कक्षा 4 की हिंदी पर आधारित है, वे अपनी तैयारी के लिए NCERT पुस्तक का उल्लेख कर सकते हैं। डिजिटल NCERT Books Class 4 Hindi PDF हमेशा उपयोग में आसान होती है जब आपके पास Physically नहीं होती है।

NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF Download
Class 4 Hindi Chapter 1

यहां आप कक्षा 4 हिंदी NCERT Book के अध्याय 1 को पढ़ सकते हैं। अध्याय के बाद, आप कक्षा 4 के हिंदी नोट्स, NCERT Solutions, महत्वपूर्ण प्रश्न, अभ्यास पत्र आदि के लिंक प्राप्त कर सकते हैं। NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF महत्वपूर्ण अध्ययन सामग्री से मन के भोले-भाले बाद के लिए नीचे स्क्रॉल करें।

NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 PDF

NCERT Class 4 Hindi Chapter 1 PDF: एनसीईआरटी कक्षा 4 की पुस्तकें डाउनलोड करना आसान है। बस लिंक पर क्लिक करें, एक नई विंडो खुलेगी जिसमें सभी NCERT Hindi Chapter 1 कक्षा 4 हिंदी पीडीएफ फाइलें होंगी। उस अध्याय का चयन करें जिसे आप डाउनलोड करना चाहते हैं| ऑफ़लाइन अध्ययन करने के लिए आपके पास अपने डिवाइस पर Class 4 Hindi Chapter 1 PDF होगा।

Class 4 Hindi Chapter 1 – मन के भोले-भाले बादल

Man ke bhole bhale badal: कक्षा 4 के लिए NCERT Solution मन के भोले भले बदल Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF में Free Download के लिए उपलब्ध हैं। ये NCERT Notes अध्यायवार प्रश्न और उत्तर सीबीएसई परीक्षा के लिए बहुत उपयोगी हैं। CBSE एनसीईआरटी पुस्तकों की सिफारिश करता है और सीबीएसई परीक्षा में अधिकांश प्रश्न NCERT की पाठ्य पुस्तकों से पूछे जाते हैं। कक्षा 4 हिंदी अध्यायवार एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 हिंदी के लिए सभी अध्याय मुफ्त में डाउनलोड किए जा सकते हैं।

Class 4 Hindi Chapter 1 Question Answer

तुम्हारी समझ से ( Class 4 Hindi Chapter 1 )

कभी-कभी ज़िद्दी बन करके
बाढ़ नदी-नालों में लाते

(1) बादल नदी-नालों में बाढ़ कैसे लाते होंगे?
उत्तर:
बादल अत्यधिक वर्षा बरसाकर नदी-नालों में बाढ़ लाते होंगे।
नहीं किसी की सुनते कुछ भी ।
ढोलक-ढोल बजाते बादल

(2) बादल ढोल कैसे बजाते होंगे?
उत्तर: बादलों के आपस में टकराने से तेज आवाज होती होगी| इस तरह बार-बार टकराकर वे बार-बार गरजते होंगे| उसे सुनकर ऐसा लगता होगा के वे ढोल बजा रहे हैं|

(3) बादल कैसी शैतानियाँ करते होंगे?
उत्तर: कभी तेज हवा के साथ पानी बरसा कर, कभी दिन रात मूसलाधार पानी बरसाकर बादल शैतानियाँ करते होंगे।
कैसा-कौन-

Class 4 Hindi Chapter 1 Question Answer

कविता से आगे ( Class 4 Hindi Chapter 1 )

(1) तूफान क्या होता है? बादलों को तूफ़ानी क्यों कहा गया है?
उत्तर: तूफ़ान तेज हवा होती है। बादलों को तूफानी इसलिए कहा गया है क्योंकि कभी-कभी वे तेज हवा के साथ मूसलाधार वर्षा बरसाते हैं।

(2) साल के किन-किन महीनों में ज़्यादा बादल छाते हैं?
उत्तर: जुलाई और अगस्त के महीनों में।

(3) कविता में काले बादलों की बात की गई है। क्या बादल सचमुच काले होते हैं?
उत्तर: सभी-बादल काले नहीं होते। कुछ सफेद भी होते हैं।

(4) कक्षा में बातचीत करो और बताओ कि बादल किन-किन रंगों के होते हैं?
उत्तर: बादल काले, भूरे और सफ़ेद रंगों के होते हैं| सुबह और शाम को वे लाल रंग के भी दिखाई देते हैं|

कैसे-कैसे बादल ( Class 4 Hindi Chapter 1 )

(1) तरह-तरह के बादलों के चित्र बनाओ।
उत्तर: स्वयं करो।

(2) कविता में बादल को ‘भोला’ कहा गया है। इसके अलावा बादलों के लिए और कौन-कौन से शब्दों का इस्तेमाल किया गया है? नीचे लिखे अधूरे शब्दों को पूरा करो।
उत्तर: मतवाले ज़िद्दी, शैतान तूफ़ानी

बारिश की आवाजें ( Class 4 Hindi Chapter 1 )

कुछ अपने थैलों से चुपके
झर-झर-झर बरसाते पानी
पानी के बरसने की आवाज़ है झर-झर-झर!
पानी बरसने की कुछ और आवाजें लिखो।
उत्तर:
टप-टप-टप छप-छप-छप
टिप-टिप-टिप रिमझिम-रिमझिम

कैसे-कैसे पेड़ ( Hindi Class 4 Chapter 1 )

बादलों की तरह पेड़ भी अलग-अलग आकार के होते हैं। कोई बरगद-सा फैला हुआ और कोई नारियल के पेड़ जैसा ऊँचा और सीधा। अपने आसपास अलग-अलग तरह के पेड़ देखो। तुम्हें उनमें कौन-कौन से आकार दिखाई देते हैं? सब मिलकर पेड़ों पर एक कविता भी तैयार करो।
उत्तर: स्वयं करो।

मन के भोले-भाले बादल कविता का सारांश

इस कविता में भिन्न-भिन्न प्रकार के बादलों का चित्रण किया गया है। इस कविता में कवि कहता है कि इन बादलों के बाल झब्बरदार हैं और गाल गुब्बारे जैसा है। कुछ बादल जोकर की तरह तोंद फुलाए हैं कुछ हाथी-से सँड़ उठाएं हैं। कुछ ऊँटों-से कूबड़ वाले हैं और कुछ बादलों में परियों-से पंख लगे हैं। ये सभी बादल आपस में टकराते रहते हैं और शेरों से मतवाले लगते हैं। कवि आगे कहता है कि कुछ बादल तूफानी हैं, और शैतान हैं। वे अपने थैलों से अचानक पानी बरसा देते हैं।

ये बादल कभी किसी का कुछ नहीं सुनते हैं। रह-रहकर छत पर दिख जाते हैं और फिर तुरंत उड़ जाते हैं। कभी-कभी ये बादल जिद पर अड़ जाते हैं और इतना पानी बरसाते हैं कि नदी-नालों में बाढ़ आ जाती है। कवि कहता है कि इन सबके बावजूद ये बादल अच्छे लगते हैं। ये मन के भोले-भाले हैं।

काव्यांशों की व्याख्या
1. झब्बर-झब्बर बालों वाले
गुब्बारे से गालों वाले
लगे दौड़ने आसमान में
झूम-झूम कर काले बादल।
कुछ जोकर-से तोंद फुलाए
कुछ हाथी-से सँड़ उठाए
कुछ ऊँटों-से कूबड़ वाले
कुछ परियों-से पंख लगाए
आपस में टकराते रह-रह
शेरों से मतवाले बादल।

शब्दार्थ : तोंद-मोटा पेट। मतवाले–मनमौजी।
प्रसंग-प्रस्तुत पंक्तियाँ हमारी पाठ्यपुस्तक ‘रिमझिम भाग-4’ में संकलित कविता ‘मन के भोले-भाले बादल’ से ली गई हैं। इसके कवि हैं-श्री कल्पनाथ सिंह। इसमें कवि ने बादल के भिन्न-भिन्न रूपों का वर्णन किया है।
व्याख्या-कवि कहता है कि बादलों के बाल झब्बरदार हैं। उनके गाल गुब्बारे जैसे हैं। वे आसमान में दौड़ने लगे। हैं। वे काले बादल हैं और झूम-झूम कर इधर-उधर आ-जा रहे हैं। कवि आगे कहता है कि कुछ बादल जोकर-जैसा पेट फुलाए हैं और कुछ हाथी से सँड़ उठाएँ हैं। कुछ बादलों के ऊँट-जैसे कूबड़ हैं और कुछ के परियों जैसे पंख हैं। ये सभी बादल आपस में रह-रहकर टकरा रहे हैं। ये शेरों जैसे मतवाले लगते हैं।

2. कुछ तो लगते हैं तूफ़ानी
कुछ रह-रह करते शैतानी
कुछ अपने थैलों से चुपके
झर-झर-झर बरसाते पानी
नहीं किसी की सुनते कुछ भी
ढोलक-ढोल बजाते बादल ।।
रह-रहकर छत पर आ जाते
फिर चुपके ऊपर उड़ जाते
कभी-कभी जिद्दी बन करके बाढ़ नदी-नालों में लाते
फिर भी लगते बहुत भले हैं।
मन के भोले-भाले बादल।

शब्दार्थ : तूफानी-तूफ़ान की तरह। जिद्दी-हठी। भले-अच्छे। भोले-भाले-निश्छल
प्रसंग-पूर्ववत् ।।
व्याख्या-बादलों के विभिन्न रूपों का वर्णन करते हुए कवि कहता है कि कुछ बादल बिल्कुल तूफ़ान जैसे लगते हैं। वे रह-रहकर शैतानी रुख अपना लेते हैं। और अपने थैलों में से झर-झर-झर पानी बरसा देते हैं।

कवि कहता है कि ये बादल कभी किसी को कुछ नहीं सुनते। बस आपस में टकराकर गर्जना करते रहते हैं, जिसे सुनकर ऐसा लगता है कि जैसे वे ढोल बजा रहे हों। ये बादल कभी छत पर दिख जाते हैं, फिर उड़ जाते हैं। कभी-कभी जिद पर अड़ जाते हैं और इतना पानी बरसाते हैं कि सभी नदी-नालों में बाढ़ आ जाती है। कवि कहता है कि इन सबके बावजूद ये बादल बहुत अच्छे हैं। ये मन के भोले-भाले हैं।

Hindi Class 4 Chapter 1

Hindi Class 4 Chapter 1 PDF: NCERT की किताबों में CBSE Syllabus और नियमों का सख्ती से पालन किया जाता है। इसमें कक्षा 4 के लिए NCERT हिंदी पुस्तक के साथ-साथ सभी विषय की किताबें शामिल हैं। एनसीईआरटी कक्षा 1 से 12 तक के छात्रों के लिए सभी विषयों और धाराओं पर किताबें तैयार करता है। कक्षा 4 की हिंदी की एनसीईआरटी की किताबें शिक्षकों, छात्रों और अभिभावकों द्वारा मानी जाती हैं। परीक्षा की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ पाठ्यपुस्तकें। छात्र NCERTरिमझिम कक्षा 4 की Book का उपयोग करके न केवल अपने पाठ्यक्रमों को आसानी से समझ सकते हैं बल्कि अपनी परीक्षाओं में अच्छे ग्रेड भी प्राप्त कर सकते हैं।

Class 4 Hindi Chapter 1 Solution PDF Benefits

NCERT की book के कई फायदे हैं, जिनमें से कुछ का उल्लेख नीचे किया गया है:

  1. NCERT की पाठ्यपुस्तकें प्रासंगिक उदाहरणों के साथ स्पष्ट और सरल भाषा में तैयार की जाती हैं।
  2. इन पाठ्यपुस्तकों में सभी महत्वपूर्ण अवधारणाएँ और सिद्धांत शामिल हैं।
  3. छात्र NCERT की किताबों की मदद से सभी बुनियादी अवधारणाओं और बुनियादी बातों को अच्छी तरह से सीख सकते हैं।
  4. NCERT की किताबें CBSE के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करती हैं।
  5. विभिन्न सरकारी परीक्षाओं के लिए कई शिक्षकों द्वारा NCERT Books की सिफारिश की जाती है।

Class 4 Hindi Chapter 1 Important links

Class 4 Hindi Chapter 1 PDF DownloadClick
Official WebsiteClick

Class 4 Hindi Chapter 1 FAQ’s

Q: 1 तूफान क्या होता है Class 4?

Ans: तूफ़ान तेज हवा होती है। बादलों को तूफानी इसलिए कहा गया है क्योंकि कभी-कभी वे तेज हवा के साथ मूसलाधार वर्षा बरसाते हैं।

Q.2: कूबड़ वाले बादल क्यों कहा गया है?

Ans: बादल बहुत अधिक वर्षा करके नदी नालों में बाढ़ लाते होंगे। ढोलक-ढोल बजाते बादल। बादल गरजकर, बरसकर और बिजली चमकाकर शैतानियाँ करते होंगे।

Q.3: नदी नालों में बाढ़ कौन लाता है?

Ans: जब बादल अधिक बारिश करते हैं तो ज़्यादा पानी बरसने के कारण नदी-नालों में पानी अधिक भर जाता है। बादल इस तरह नदी-नालों में बाढ़ लाते है।

Q.4: बादल चुपके से कौन सा काम करते हैं?

Ans: रह-रहकर छत पर आ जाते फिर चुपके ऊपर उड़ जाते कभी-कभी ज़िद्दी बन करके बाढ़ नदी-नालों में लाते फिर भी लगते बहुत भले हैं मन के भोले-भाले बादल।

Q.5: बादल कौन कौन से रंग के होते हैं?

Ans: बादल काले, गहरे स्लेटी और सफेद रंगों के होते हैं। सूर्य की किरणों के कारण वे सुबह और शाम को लाल और केसरिया रंग के भी दिखाई देते हैं।

Leave a Comment