Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana in Hindi 2022 [DDUAY]

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana 2022

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana in Hindi [DDUAY] | Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana PDF | Launch Date | Online Application Form| दीनदयाल अंत्योदय योजना | राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन | राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Mission

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Mission: दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना (DDUAY) एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य कौशल विकास और स्थायी आजीविका के अवसरों को बढ़ाकर शहरी और ग्रामीण गरीब लोगों का उत्थान करना है।  Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana का ‘मेक इन इंडिया‘ एक उद्देश्य कौशल विकास है, जो देश की सामाजिक-आर्थिक बेहतरी में मदद करता है। यह Deen Dayal Yojana ‘मेक इन इंडिया’ के उद्देश्य को सुगम बनाती है। भारत सरकार ने इस Deen Dayal Upadhyaya Yojana के लिए 500 करोड़ रुपये प्रदान किए हैं। 

Deen Dayal Upadhyayan Antyodaya Yojana
Deen Dayal Upadhyayan Antyodaya Yojana

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana in Hindi

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana in Hindi: देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रो के गरीब लोग आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण मजदूरी करके अपना जीवन यापन कर रहे है ।और बहुत से गरीब लोगो के पास को आय का कोई स्थिर साधन ही नहीं है । सभी दशाओ को देखते हुए केंद्र सरकार ने इस दीनदयाल अंत्योदय योजना 2022 को आरम्भ किया है

Schemes NameDeen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Schemes.
OwnerMinistry of Rural Development
CountryIndia
Prime Minister(s)Narendra Modi
Budget₹500 crore (US$70 million)
StatusActive
Websiteaajeevika.gov.in

इस Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Sakhi के ज़रिये शहरी गरीब परिवारों कि गरीबी और जोखिम को कम करने के लिए उन्हें लाभकारी स्वरोजगार और कुशल मजदूरी रोजगार के अवसर का उपयोग करने में सक्षम करना । जिसके परिणामस्वरूप मजबूत जमीनी स्तर के निर्माण से उनकी आजीविका में स्थायी आधार पर सराहनीय सुधार हो सके। इस NRLM 2022 के माध्यम से ग्रामीण गरीबी समाप्त करना तथा आजीविका के विविध स्रोतों को प्रोत्‍साहन प्रदान करना है ।

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana objective 

दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना का उद्देश्य: देश में गरीबी और बेरोजगारी अभी भी एक खतरनाक दर पर है, ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ भारत सरकार ने भारत के नागरिकों को कौशल में पाठ्यक्रम और कक्षाएं देकर आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास में दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना की शुरुआत की।

ऐसा करके सरकार चाहती है कि यह Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana देश के पिछड़े राज्यों से आने वाले और गरीबी रेखा से नीचे के नागरिकों में उद्यमिता की भावना पैदा करे। इसके अलावा, ग्रामीण विकास मंत्रालय का उद्देश्य बेघरों को आश्रय प्रदान करना और रेहड़ी-पटरी वालों को सामाजिक सुरक्षा, काम करने के लिए उपयुक्त स्थान और उनके व्यवसाय को संस्थागत ऋण देना है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि इस Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana को बढ़ावा दिया गया है

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Benefits

दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना के लाभ:-

  • इस योजना का उद्देश्य भारत के नागरिकों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से, अपनी पसंद की नौकरी को आगे बढ़ाने के लिए आत्मनिर्भर बनाना है। भारत सरकार और ग्रामीण विकास मंत्रालय ने जो पहला कदम उठाया है, वह है गरीबों को कौशल विकास कक्षाएं देना – उन्हें रोजगार के अवसर देने के लिए। कौशल विकास कार्यक्रम शहरी नागरिकों द्वारा देश भर के विभिन्न शहर आजीविका केंद्रों में संचालित किए जाते हैं।
  • प्रशिक्षण के लिए, सरकार ने प्रत्येक व्यक्ति के लिए 15,000 रुपये आवंटित किए हैं। 
  • रेहड़ी-पटरी पर बेचने वालों और अन्य स्वरोजगार करने वाले ग्रामीण नागरिकों के लिए।
  • शहरी क्षेत्रों के गरीब नागरिकों को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए, सरकार ने सब्सिडी वाले ऋण की पेशकश की है। सूक्ष्म उद्यम शुरू करने की इच्छा रखने वाले नागरिकों के लिए, 7% प्रति वर्ष की ब्याज दर पर 2 लाख रुपये का ऋण दिया गया था, समूह उद्यमों के लिए, सरकार ने 7% प्रति वर्ष की ब्याज दर पर 10 लाख रुपये तक के ऋण की पेशकश की है।
  • इस योजना का प्राथमिक फोकस गरीबों की सहायता करना है, इस योजना में बेघरों को आश्रय प्रदान करने की पूरी लागत भी शामिल है।
  • दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना में विक्रेताओं के लिए बुनियादी ढांचे की स्थापना, कौशल विकास कार्यक्रमों की पेशकश जैसे क्षेत्रों को भी शामिल किया गया है ताकि उन्हें अधिक अवसर प्रदान किया जा सके। इस योजना में कूड़ा बीनने वालों के लिए विशेष कार्यक्रम भी शामिल थे।

Deendayal Antyodaya Yojana 2022 Documents

Deendayal Antyodaya Yojana 2022 Documents: दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए ।
  • आवेदक गरीब  होना चाहिए ।
  • ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रो के ही गरीब लोग इस योजना के अंतर्गत शामिल हो सकते है ।
  • आधार कार्ड
  • पहचना पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Online Application Form

Online Application: देश के जो ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रो के गरीब लोग इस योजना का लाभ उठाना के लिए आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को Step by Step Follow करे-

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा । Official Website पर जाने के बाद आपके सामने Home Page खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Login का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा ।ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा ।
  • इस पेज पर आपको Login Form दिखाई देगा आपको इस Login Form के नीचे Register का ऑप्शन दिखाई देगा ।आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा । विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपको अगले पेज पर Registration Form खुल जायेगा ।
  • आपको इस Online Application Form में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे Name, User Name , Email ID, Passwor , Contact Number , Secure Code आदि भरनी होगी ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद Create New Account पर क्लिक करना होगा ।इसके बाद आपको अब इस लॉग इन में आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं और Aajeevika Grameen Express Yojana UPSC के तहत दिए गए प्रोत्साहन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Features of DAY-NULM

DAY-NULM में विभिन्न घटक हैं जो शहरी गरीबों को विभिन्न सहायता प्रदान करते हैं। विभिन्न घटक हैं-

सामाजिक लामबंदी और संस्था विकास

DAY NULM शहरी गरीबों के स्वयं सहायता समूहों (SHG) और उनके संघों में सामाजिक जुड़ाव की परिकल्पना करता है। ये समूह गरीबों को उनकी वित्तीय और सामाजिक जरूरतों को पूरा करने के लिए एक सहायता प्रणाली के रूप में कार्य करते हैं। डीएवाई-एनयूएलएम शहरी आबादी के कमजोर वर्गों जैसे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यकों, विकलांग व्यक्तियों, भिखारियों, घरेलू कामगारों, कूड़ा बीनने वालों आदि की लामबंदी पर विशेष महत्व देता है। एक एसएचजी के लिए अधिकतम रु. 10,000 खर्च किए जा सकते हैं। इसका गठन, सभी सदस्यों का प्रशिक्षण, बैंक लिंकेज और अन्य संबंधित गतिविधियां।

क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण

क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण डीएवाई-एनयूएलएम को लागू करने के लिए केंद्र, राज्य और शहर के स्तर पर समय पर और उच्च गुणवत्ता वाली तकनीकी सहायता स्थापित करता है। केंद्र में, एक राष्ट्रीय मिशन प्रबंधन इकाई (एनएमएमयू) की स्थापना की जाएगी। राज्य मिशन प्रबंधन इकाई (SMMU) और सिटी मिशन प्रबंधन इकाई (CMMU) की स्थापना के लिए राज्यों और शहरों को सहायता प्रदान की जाएगी।

कौशल प्रशिक्षण और नियुक्ति के माध्यम से रोजगार

कौशल प्रशिक्षण और नियोजन के माध्यम से रोजगार शहरी गरीबों को बाजार से कौशल की मांग के अनुसार प्रशिक्षण प्रदान करता है, ताकि वे अपना स्वरोजगार उद्यम स्थापित कर सकें या सुरक्षित वेतनभोगी रोजगार प्राप्त कर सकें। इस घटक के तहत लाभार्थियों के चयन के लिए कोई न्यूनतम या अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित नहीं है। प्रति लाभार्थी की लागत 15,000 रुपये से अधिक नहीं होगी।

स्वरोजगार कार्यक्रम

लाभार्थियों के चयन के लिए कोई न्यूनतम या अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित नहीं है।परियोजना लागत की अधिकतम सीमा जिसके लिए सहायता प्रदान की जाती है, व्यक्तिगत उद्यमों के लिए 2 लाख रुपये और समूह उद्यमों के लिए 10 लाख रुपये है। एक व्यक्ति या समूह उद्यम स्थापित करने के लिए बैंक ऋण पर 7 प्रतिशत से अधिक ब्याज दर पर ब्याज सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

अर्बन स्ट्रीट वेंडर्स को सपोर्ट

शहरी क्षेत्रों के गरीब रेहड़ी-पटरी वाले भी ‘कौशल प्रशिक्षण और नियोजन के माध्यम से रोजगार’ घटक के तहत कौशल प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं। वे ‘स्व-रोजगार कार्यक्रम’ के तहत सूक्ष्म उद्यम के विकास के लिए सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढे:-

शहरी बेघरों के लिए आश्रय योजना

आश्रयों में बुनियादी सामान्य सुविधाएं और सुविधाएं जैसे पानी, बिजली, रसोई, स्वच्छता आदि प्रदान की जाएंगी। भारत सरकार आश्रयों के निर्माण की लागत का 60 प्रतिशत तक निधि प्रदान करेगी, और शेष 40 प्रतिशत राज्य का योगदान होगा। पूर्वोत्तर राज्यों के मामले में केंद्र और राज्य का फंडिंग राशन 90:10 होगा। केंद्र शासित प्रदेशों के संबंध में, भारत सरकार लागत का 100% योगदान देगी।

Official Website Click here
Download PDF Click here
WhatsApp Group Click here
Telegram Channel Click here

Contact Information

आप नीचे प्रदान किए गए फोन नंबर पर फोन नंबर पर संपर्क करके भी अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं:-

  • Address- Deen dayal Antyodaya Yojana– National Rural Livelihood Mission (DAY-NRLM), Ministry of Rural Development, Government of India 7th floor, NDCC building-ll, Jay Singh road New Delhi- 110001
  • Phone Number- 011-23461708

FAQ’s

Q.1 दीनदयाल अंत्योदय योजना क्या है?

Ans: दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना (DDUAY) एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य कौशल विकास और स्थायी आजीविका के अवसरों को बढ़ाकर शहरी और ग्रामीण गरीब लोगों का उत्थान करना है

Q.2 Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana Launch Date?

Ans: दीन दयाल अंत्योदय योजना को 25 September 2014 को शुरू किया गया था

Leave a Comment